Saturday, 21 April 2018

हौसलों की उड़ान Motivational Poem In Hindi

इससे पहले हमने राना साहब की Poem पढ़ी थी हमने पहले Inspirational Hindi Poem भी हमने पढ़ी थी. आज हम हौसलों की उड़ान Motivational Poem पढेंगे.

Motivational Poem In Hindi

हिम्मतों का जहां बाकी रख
हौसलों की उड़ान बाकी रख

   काम मुश्किल है तो क्या परवाह
   रास्ते में कांटे है तो क्या परवाह

गार गहरे भी हो तो पट जायेंगे
हौसलों से पहाड़ कट जायेंगे

   हौसले जब उड़ान भरते है
   चाँद पर जाकर वोह ठहरते है

जोश और वल्वले है जिनके गुलाम
उनको आते है मंजिलों के सलाम

  जोर तूफ़ान का तोड़ते है वही
  वक़्त के रुख को मोडते है वही

उनकी हिम्मत को जब लगे कोड़े
वोह दाल दे  समंदर  में घोड़े

  ठोकरे खाकर मुस्कुराते है
  मुश्किलों को गले लगाते है

कोई गम हो वो झेल सकते है
अपने सर से भी खेल सकते है

  हिम्मतों की जवानियाँ जिंदा
  हौसलों की कहानियाँ जिंदा

जी तेरा छुटने न पाये कभी
हौसले टूटने न पाये कभी

  हिम्मतों का जहां बाकी रख
  हौसलों की उड़ान बाकी रख

Hauslon Ki Udaan Hindi Motivational Poem 


Himmaton ka jahaan baaki rakh
Hauslon ki udaan baaki rakh

  Kaam Mushkil hai kya parwaah
  Raste me kaante hai to kya parwaah

Gaar gahre bhi ho to pat jayenge
Hauslon se pahad kat jayenge

  Hausle jab udaan bharte hai
  Chaand par jakar wo thahrte hai

Josh aur walwale hai jinke gulam
Unko aate hai manzilon ke salaam

  Jor tufaan ka todte hai wahi
  Waqt ke rukh ko modte hai wahi

Unki himmat ko jab lage kode
Wo samndar me daal de ghode

  Thokare khaakar muskurate hai
  Mushkilon ko gale lagate hai

Koi gam ho wo jhel sakte hai
Apne sar se bhi khel sakte hai

  Himmato ki jawaniya zinda
  Hauslon ki kahaniya zinda

Jee tera chutne na paye kabhi
Hausla tutne na paye kabhi

  Himmaton ka jahaan baaki rakh
  Hauslon ki udaan baaki rakh

0 comments:

Post a Comment

Popular Posts

Recent Posts

Follow by Email