Wednesday, 18 July 2018

धीरज का फल मीठा क्यों नहीं FunnyTrue Hindi Story

इससे पहले हमने Waseem Barelvi Sahab Ki Shayari पढ़ी थी. आज हम Funny True Story Hindi में पढेंगे. यह Funny Story पढ़कर आपको ज़रुरु पसंद आयेंगी किस तरह से एक लड़के ने Story को नया मोड़ दिया है. तो शुरू करते है उम्मीद है आपको यह कहानी बहुत पसंद आएँगी.यह Story बिहार का लड़का खुद लिखता है और कहानी का रोल भी उसी का है.

धीरज का फल Funny True Story

मैंने कही पढ़ा था धीरज का फल मीठा होता है. एक दिन मुझे भूक लगी थी और मम्मी ने करीले (Bitter Gourd) का सालन पकाया था. मैंने बहुत सबर (धैर्य) करने के बाद करीले खाए फिर भी करीले कडवे ही निकले. एक दिन अब्बू आम लाये अम्मी ने ठंडा करने के लिए आमो को कांट कर फ्रीज में रख दिये मै बहुत देर सबर करके आम खाने गया तो देखा आम फ्रिज में नहीं है किचन पर एक प्लेट में छिलके और गुठलियाँ पड़ी थी मैंने छिलके चबाये तो वो कडवे निकले. मैंने सोचा शायद गुठलियाँ मीठी होंगी मगर उस में भी कुछ मीठा न निकला उसके बाद मैंने बहुत सोचा के ऐसा क्यों हो रहा है ? दिमाग में एक बात आई के सबर का फल नहीं बल्कि महेनत का फल मीठा होता है.

           बाजी का कहना था के करेले का जूस पीने से खून साफ़ होता है मैंने बहुत महेनत से मिक्सी में करीले का जूस बनाया और आधा घंटा सबर भी किया मगर फिर भी वोह कड़वा ही निकला. न सबर का फल मीठा निकला और न ही महेनत का !
क्या आप बता सकते है ऐसा क्यों हुआ ?

Note : अगर आपके पास इसका जवाब है तो जरुर हमें comment करके बताये और share करना न भूले.

0 comments:

Post a Comment

Popular Posts

Recent Posts

Follow by Email