India's Top Hindi Blog For Quotes, Hindi Stories

Friday, 7 September 2018

पर्यावरण बचाव Short Story On Save Trees With Moral In Hindi

Save Tress Short Moral Story In Hindi आज हम पढेंगे. इससे पहले हमने बहुत सी Hindi Stories पढ़ी है. आज आपके लिए Best Hindi Story लेकर आया हु ये कहानी आपको बहुत पसंद आएँगी अगर आपको पसंद आये तो Share करना ना भूले.

Short Story On Save Trees

                 मनुष्य के कदमो की आहट सुनते ही सारे जंगल में सन्नाटा छा गया खौफ के मारे पेड़ो की जान ही निकल रहि थी। कुल्हाड़ी की धार जब छोटे पेड़ पर पड़ी तो बड़े और मजबूत पेड भी डर गये। मनुष्य के हाथो जंगल का सफाया देख कर पक्षी भी दुखी हो रहे थे क्यूंकि उनके घर भी खत्म हो रहे थे। एक पेड़ पर बैठे तोते ने मैना से कहा : क्यों बगल में चोंच दबाये बैठी हो?
मैना : तुम्हे इन पडो के कटने का अहेसास नहीं है।

hindi-story-on-trees
Save Trees


तोता : अहेसास क्यों नहीं, इस गर्मी ने हमारे कितने भाइयो को मार दिया।
मैना : वो तो मैं भी देख रही हु लेकिन हमें कुछ तो करना ही पड़ेंगा।
तोता : ये मनुष्य कितना लालची बन गया सारा पर्यावरण बिगड़ने पर तुला है।
मैना : हां इस Pollution में सांस लेनी भी मुश्किल हो रही है।
तोता : सांस क्या जब से जंगल का कटाव शुरू हुआ है तब से मौसम भी आग बरसा रहा है।
मैना : और पानी भी खत्म हो रहा है।
तोता : परंतु कुछ ना कुछ तो सोचना ही पड़ेंगा।


मैना : वही तो मैं भी कह रही हु।
तोता : वो देखो कबूतर आ रहा है उससे पूछ लेते है ये हमेशा अच्छी सलाह देता है।
मैना : हां ठीक।
तोता : रुको रुको कबूतर भाई तुम से एक सलाह लेनी है।
कबूतर : अच्छा बताओ
तोता : वैसे तो आपको भी पता होंगा मनुष्य के हाथो पर्यावरण खराब हो रहा है।इस लिए इनको समझाने का कोई तरीका बताओ जिससे वो जंगल कांटने से भी रुक जाए और पेड़ भी लगाये।
कबूतर : कुछ देर सोचने के बाद! हमें इसे काम के लिए कौव्वे की मदद चाहिए।

तोता : किस लिये ?
कबूतर : वो जंगल से एक छोटा पौधा लायेंगा और मेरे साथ गाँव में चलेंगा।
मैना : इससे क्या होंगा ?
कबूतर : हम रोज़ इंसानों के आँगन में पौधा लेकर जायेंगे जैसे ही बच्चे खेलने के लिए बाहर आँगन में आयेंगे कौव्वा गढ़ा खोदेंगा और मैं उस गढ़े में पौधा लगा दूंगा।
तोता : क्या इस तरह से वे तुम्हारा Mission समझ पाएंगे ?
कबूतर : हां वे मेरे बहुत से इशारे समझता है और मुझे रोज़ दाने भी डालता है । जब हम कई दिनों तक करेंगे तो तो वो समझ जायेंगा शायद हो सके फिर से मनुष्य पेड़ लगाना शुरू करदे।

तोता : हां ये सुझाव अच्छा है !
मैना : अब जल्दी कौव्वे को बुलाओ फिर से हमारा पर्यावरण ठीक हो जाये।
कबूतर : मैं जा रहा हु और कौव्वे के साथ मिल कर ये अच्छा मिशन शुरू करूँगा।

           थोड़ी ही देर में कबूतर और कौव्वा चोंच में पौधा लिए गाँव की तरफ उड़ने लगे।तोता और मैना ख़ुशी से फडफडाने लगे। पक्षियों के इस पर्यावरण बचाओ मिशन में पेड़ भी खुश होने लगे।

Moral : इस Short Story On Trees With Moral In Hindi से हमें Moral मिलता  है की हमें पेड़ लगाना ही चाहिए हर व्यक्ति ने कम से कम एक पेड़ लगाना चाहिए. हर घर के आगे Trees लगाने चाहिए. Trees Pollution को ख़त्म करने में मदद करते है. तो हम ज़रूर Save Trees का प्रयास करेंगे.

               उम्मीद है दोस्तों आपको Save Trees Hindi Story With Moral पसंद आई होंगी हम हमेशा अच्छी कहानी लाने का पर्यास करते तो आपको अगर ये कहानी पसंद आई होंगी आप इस share करना ना  भूले इस कहानी को जितने लोग पड़ेंगे शायद वो भी हमारे और इस कहानी में बताये गए पक्षियों के Mission में जुड़ जाये आखिर में एक Request करूँगा Save Trees Save Environment

2 comments:

Popular Posts

Recent Posts

Follow by Email