India's Top Hindi Blog For Quotes, Hindi Stories

Sunday, 9 December 2018

कबूतर का जोड़ा हिन्दी कविता Hindi Poem On Pigeon

After Hindi Poem On Books And Winter Season we are reading Hindi Poem On Pigeon. Before we read many Hindi Poems Children Poems and Hindi Stories but today we are reading interesting Hindi Poem about Pigeon.
hindi poem on pigeon

कबूतर Hindi Poem


है नन्ही सी जान और इतनी अकड़ फु
गुटुर गु गुटुर गु गुटुर गु

जहा भी मिला दाना तिनका ना छोड़ा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

उड़े साथ दोनों तो देखो अदाएं
कभी ऊंचे नीचे कभी दाए बाएँ

फिजा झिलमिलाई ज़रा रुख जो मोड़ा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

कला बाजिया कैसी खाते है दोनों
जो तेज़ी से पर फडफडाते है दोनों

पर्दों की दमक जैसे बिजली का कोड़ा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

वो बच्चो को उड़ना सिखाने का फन
ऊंचाई पर गोता लगाने का फ़न

है डर बिल्लियो का मगर थोडा थोडा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

Hindi Poem On Pigeon

Hai nannhi si jaan aur itni akad fu
Gutur Gu Gutur Gu Gutur Gu

Jaha bhi mila dana tinka na choda
Kabutar ka joda kabutar ka joda

Ude saath dono to dekho adaen
Kabhi oonche niche kabhi daaen baaye

Fiza jhilmilaai jara rukh jo moda
Kabutar ka joda kabutar ka joda

Kala bajiya kaisi khaati hai dono
Jo tezi se par fadfadate hai dono

Pardo ki damak jaise bijli ka koda
Kabutar ka joda Kabutar ka joda

Wo bachhon ko udna sikhane ka fan
Oonchai par gota lagane ka fann

Hai darr billiyon ka magar thoda thoda
Kabutar ka Joda Kabutar ka joda

मोटापा क्यों है Hindi Poem
आओ मिल कर पेड़ लगाये Hindi Poem

0 comments:

Post a Comment

Popular Posts

Recent Posts

Follow by Email