India's Top Hindi Blog For Quotes, Hindi Stories

Sunday, 9 December 2018

कबूतर का जोड़ा हिन्दी कविता Hindi Poem On Pigeon

After Hindi Poem On Books And Winter Season we are reading Hindi Poem On Pigeon. Before we read many Hindi Poems Children Poems and Hindi Stories but today we are reading interesting Hindi Poem about Pigeon.
hindi poem on pigeon

कबूतर Hindi Poem


है नन्ही सी जान और इतनी अकड़ फु
गुटुर गु गुटुर गु गुटुर गु

जहा भी मिला दाना तिनका ना छोड़ा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

उड़े साथ दोनों तो देखो अदाएं
कभी ऊंचे नीचे कभी दाए बाएँ

फिजा झिलमिलाई ज़रा रुख जो मोड़ा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

कला बाजिया कैसी खाते है दोनों
जो तेज़ी से पर फडफडाते है दोनों

पर्दों की दमक जैसे बिजली का कोड़ा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

वो बच्चो को उड़ना सिखाने का फन
ऊंचाई पर गोता लगाने का फ़न

है डर बिल्लियो का मगर थोडा थोडा
कबूतर का जोड़ा कबूतर का जोड़ा

Hindi Poem On Pigeon

Hai nannhi si jaan aur itni akad fu
Gutur Gu Gutur Gu Gutur Gu

Jaha bhi mila dana tinka na choda
Kabutar ka joda kabutar ka joda

Ude saath dono to dekho adaen
Kabhi oonche niche kabhi daaen baaye

Fiza jhilmilaai jara rukh jo moda
Kabutar ka joda kabutar ka joda

Kala bajiya kaisi khaati hai dono
Jo tezi se par fadfadate hai dono

Pardo ki damak jaise bijli ka koda
Kabutar ka joda Kabutar ka joda

Wo bachhon ko udna sikhane ka fan
Oonchai par gota lagane ka fann

Hai darr billiyon ka magar thoda thoda
Kabutar ka Joda Kabutar ka joda

मोटापा क्यों है Hindi Poem
आओ मिल कर पेड़ लगाये Hindi Poem

Friday, 30 November 2018

Hindi Poems On Books पुस्तक पर शानदार हिन्दी कविता


पुस्तक पर हिन्दी कविता


Books Hindi Poem

इंसान आदमी को बनाती है किताबे
आदाब ज़िन्दगी के सिखाती है किताबे

देती ही नहीं पाठ कभी झूटे अमल का
सच्चाई का ही पाठ पढ़ाती है किताबे

Children poem Cycle

हम को सिखाती है पहचान अच्छे बुरे की
रौशनी आँखों की बढाती है किताबे

पढिये तो महकता है हर एक का दिल
खुशबु की तरह साँसो में आती है किताबे

कागज़ पर जवां होता है खुशबुओं का मेला
मन  में अजब फूल खिलाती है किताबे

भटको न अंधेरो में उजालो की तरफ आओ
पास अपने मोहब्बत से बुलाती है किताबे

Motivational Kavita In Hindi

आँखों को देती है खुश रंग नज़ारे
बे रंग खयालो को सजाती है किताबे

जचता ही नहीं कोई हमदम उस को फ़िराक और
जिस शख्स से याराना बढाती है किताबे

Best Hindi Poem On Books

Insaan aadmi ko banati hai Kitabe
Aadab zindagi ke sikhati hai kitabe

Deti hi nahi paath kabhi jooth ka
Sachhai ka hi paath padhati hai kitabe

Ham ko sikhati hai pahchan achhe bure ki
Raushni aankhon ki badhati hai kitaabe

Padhiye to mahakta har ek ka Dil
Khushbu ki tarah saanson me aati hai kitabe

Kagaz par jawaan hota hai khushbuon ka mela
Man me ajab phool khilati hai kitabe

Bhatkon na andhero me ujalon ki taraf aao
Paas apne Mohabbat se bulati hai Kitabe

Aankhon ko deti hai khushrang nazare
Be rang khayalon ko sajati hai kitabe

Jazcha hi nahi hamdam koi usko Firaq aur
Jis shakhs se yarana badhati hai Kitabe


Tuesday, 20 November 2018

ठंड फिर से लौट आई है Hindi Poem On Winter Season

आज मैं लेकर आया हु नयी कविता लेकर आया हु Winter Season जिसका टाइटल है. इससे पहले भी बहुत सी कवितायें हम पढ़ चुके है. ठंड पर बहुत सी कविता आप पढ़ चुके होंगे लेकिन उम्मीद है ये कविता आपने नहीं पढ़ी होंगी इसे आखिर तक पढ़े और share भी करे.

सर्दी लौट आई है हिन्दी कविता

winter season hindi poem

सर्दी फिर से लौट आई है
मौसम कितना सरमाई है
मंज़र मंज़र बर्फानी है
गर्मी ने छुट्टी पाई है
थर थर सारे काँप रहे है
जैसे अन्दर से घबराई है
बिस्तर से है नौ दो ग्यारह
गर्मी कैसी हरजाई है
छत पर बर्फ जमी है जैसे
नम आलूदा अंगनाई है
मफलर स्वेटर दस्तानो की
शाम ही से मुंह दिखलाई है
पंखे कूलर बंद पड़े है
ए सी ने फुरसत पाई है
लस्सी शरबत गुम सुम गुम सुम
चाय की फिर बन आई है
एक बस्ता दीवार व दर है
ठंडक फर्श पे उग आई है
रात होते ही घर लौट आओ
हैदर इस में दानाई है

Why Obesity Hindi Kavita

Winter Season Hindi Poem

Sardi phir se laut aai hai
Mausam kitna sarmaai hai
Manzar manzar brfani hai
Garmi ne chutthi paai hai
Thar thar saare kaanp rahe hai
Jaise andar se ghabrai hai
Bistar se hai nau do gyarah
Garmi kaisi harjaai hai
Chat par baraf jami hai jaise
Nam aaluda angnai hai
Maflar swetter dastano ki
Shaam hi se munh dikhlai hai
Phanke cooler band pade hai
A C ne fursat paai hai
Lassi sharbat gum sum gumsum
Chaai ki phir ban aai hai
Ek basta deewar wa dar hai
Thandak farsh pe ug aai hai
Raat hote hi ghar laut aao
Haidar is me danaai hai

Wednesday, 14 November 2018

Chacha Nehru Hindi Poem चाचा नेहरु हिन्दी में कविता

इससे पहले भी हम जवाहर लाल नेहरु जी पर कविता पढ़ चुके है जो मैने आज ही share की यह कविता आपको बहुत पसंद आएँगी इसे पूरा पढ़े और दोस्तों के साथ share करे 

चाचा नेहरु हिन्दी कविता


रोशन नाम है सब के घर में
चाचा नेहरु हर मंज़र में

बच्चे भी है आशिक उनके
सच्चे भी है आशिक उनके

भारत का रोशन चहरा
ऊंचे अजम ख्वाब सुनेहरा

भारत का महताबी नक्शा
रोशन आब व ताबी नक्शा

भारत की राहत का सामान
खुशियों की दौलत का सामान

भारत का पुरनूर मुक़द्दर
आईना सा मिस्ले सिकंदर

दिल में है तस्वीर उनकी
हर खूबी दिलगीर है उनकी

उनकी सोच में गंगा जमना
उनका दिल पाकीज़ा नगीना

भारत भारत नेहरु चाचा
हिम्मत वाले शेरू चाचा


Hindi Poem On Chcha Nehru

Raushan naam hai sabke ghar me
Chacha nehru har manzar me

Bachhe bhi hai aashik unke
Sachhe bh hai aashik unke

Bharat ka raushan chahra
oonche irade Khwab sunehra

Bharat ka mahtabi naqsha
Raushan aab wa taabi naqsha

Bharat ki rahat ka samaan
khushiyon ki daulat ka samaan

Bharat ka purnoor muqaddar
Aaina sa misle siqandar

Dil me hai tasveer unki
Har khubi dilgeer unki

Unki soch me ganga jamuna
Unka Dil pakeeza nagina

Bharat Bharat Nehru chacha
Himmat wale sheru chacha

Hindi Poem On Jawahar Lal Nehru नेहरु जी हिन्दी कविता

मुझे लगता है  Diwali पर जो कविता पढ़ी थी वो भूले नहीं है आप कैसे भूलते थी ही मजेदार Poem आज नेहरु जी पर कविता लेकर आया हु जो आपको बहुत पसंद आयेंगी

नाम जवाहरलाल था जिनका
चौदा नवम्बर जन्म दिन उन का
ये बच्चो का दिन कहलाये
नेहरु जी की याद दिलाये
बच्चो ऊँचा हसब नसब था
और नेहरु खानदानी लकब था
इलाहाबाद थी उनकी पैदाइश
और आनंद भवन में रिहाइश
मन में दिखावा था ना नुमाइश
ब़स आजादी की थी ख्वाहिश
देश की शान ना खोने देते
जुल्म कभी ना होने देते
देश के पहले पि एम
सब के चहिते और हमदम
जवाहरलाल थे कौल के सच्चे
जिन को चाचा कहते बच्चे

Naam Jawahar tha jinka
14 November janm din unka

Ye bachho ka din kahlaye
Nehru ji ki yaad dilaye

Bahho ooncha hasab nasab tha
Aur nehru khandani laqab tha

Ilahabad thi unki paidaish
Man me dikhava na numaaish
Bas aazadi ki thi khwahish

Desh ki shaan na khone dete
Zulm kabhi na hone dete

Desh pahle they P M
Sab ke chahite aur hamdam

Jawahar lal they  sachhe
Jinko Chacha kahte bachhe

Wednesday, 7 November 2018

Hindi Poem On Diwali दीपावली पर हिन्दी कविता

इससे पहले हमने बहुत सी कविताये पढ़ी है आज हम दीवाली पर Hindi Poem पढेंगे. यह कविता Dr.Asrarullah Sahab की लिखी हुयी है इस कविता को मैंने magzine में पढ़ी मुझे इतनी पसंद आई की मैंने सोचा इसे सब के साथ share करना चाहिए यही मेरी तरफ से आप लोगो को दीपावली का तोहफा.

Diwali Poem In Hindi

Dipawali Best Hindi Poem

आया फिर से देखो तहवार रौशनी का
मोहब्बत भाईचारे, प्यार और दोस्ती का

पहने हुए है सब ने खुश रंग उजले हुए कपडे
मन भी धुला धुला है साफ़ हर किसी का

सब मुस्कुरा रहे है खुशियाँ मना रहे है
यु ही रहे ये गुलशन अमन और शांति का

इस मुल्क में चराग अब ऐसा भी एक जला दो
जिससे मिटे तास्सुब दिल साफ़ हो सभी का

इस देश में हो ऊंचा अमन व अमां का परचम
ना जुल्म हो किसी पर ये मुल्क है सभी का

बच्चो जलाओ दीप ऐसा के अब जहाँ से
मिट जाए जुल्मत और फितना तास्सुबी का

हर दिल में अब जला दो कंदील रौशनी का
बन जाए ये गुलसितां खुशहाली और ख़ुशी का

जी उठे फिर से अपना सदियों का भाई चारा
इस साल हो यही बस तोहफा दीपावली का

Best Hindi Kavita On Diwali

Aaya hai phir se dekho tahwar raushni ka
Mohabbat aur bhaichare, Pyar aur Dosti ka

Pahne huye hai sab ne ujle huye kapde
Man bhi dhula dhula hai saaf har kisi ka

Sab muskura rahe hai khushiyan mana rahe hai
Yu rahe ye gulshan amn aur shanti ka

Is mulk me charag ab aisa bhi ek jala do
Jis se mite tassub dil saaf ho sabhi ka

Is desh me ho ooncha amn o amaan ka parcham
Na zulm ho kisi par ye mulk hai sabhi ka

Bachho jalao deep aisa ki ab jaha se
Mit jaye zulmat aur fitna tassubi ka

Har dil me ab jalado qandeel raushni ki
Ban jaye ye gulsitaan khush haali aur khushi ka

Jee uthe phir se apna sadiyon ka bhai chara
Is saal ho yahi bas tohfa Deepawali ka

Best Poems In Hindi

Monday, 29 October 2018

आखिर क्यों उदासी पर कहानी Short Sad Story In Hindi

इससे पहले बहुत सी कहानियां हमने पढ़ी आज हम Short Sad Story In Hindi पढेंगे इस कहानी में हम बहुत exprience की बात पढेंगे की किस प्रकार से लोग अपना विश्वास तोड़ते है.Sad Story आपने पढ़ी होंगी लेकिन यह छोटी  Sad Story आपका दिल छु लेंगी. बहुत से लोगो को मैंने यह कहानी सुनाई उसमे से कुछ लोगो की आँखे नम हो गयी.चलिए शुरू करते है Sad Story In Hindi

Sad Short Story In Hindi

short sad story in hindi
sad story

     शाहीद अपनी दुकान बंद करने के बाद घर की तरफ जा रहा था रास्ते में एक आदमी और औरत अपने बच्चे के साथ नजर आये वो जाने वालो से मदद मांग रहे थे। शाहीद ने अपनी गाडी रुकाई वो आदमी करीब आकर बोला : मेरा बेटा बहुत बीमार है हमें हॉस्पिटल तक पहुंचा दो।


     शाहीद ने उन्हें अपनी गाडी में बैठा लिया। अभी वो कुछ ही दूर गए थे की शाहीद को अपनी गर्दन पर कुछ दबाव सा महसूस हुआ उसने पीछे मुड कर देखा उसपर दोनों ने बन्दुक तान रखी थी उन्होंने गाड़ी रोकने को कहा और सारा कॅश और मोबाइल गाड़ी लेकर चले गये। उस दिन के बाद शाहीद को मदद मांगने वालो से नफरत हो गयी।

धीरज का फल मीठा क्यों नहीं Funny True Hindi Story

      इस बात को होने बहुत दिन होगये लेकिन शाहीद नहीं भूला। एक रात वो अपने घर जा रहा था रास्ते में एक बुढा आदमी और एक लड़का दिखाई दिया। उन्होंने शाहीद से मदद मांगी शाहीद उनको इगनोर करके आगे बढ़ गया। अगले दिन जब शाहीद अपनी दूकान जाने के लिए घर से निकला तो उसे रास्ते में गर्दी दिखाई दी। शाहीद ने अपनी गाडी रुकाई और गर्दी को चीरता हुआ आगे बढ़ा। सामने वही बुढा लड़के की लाश के साथ रोता हुआ दिखाई दिया जो रात में मदद मांग रहा था। शाहीद ने उससे रोने की वजह पूछी तो वो बोला : ये मेरा एकलोता बेटा था कल रात इसे बुखार था। मैंने कइ लोगो से मदद मांगी लेकिन मेरी किसी ने नहीं सुनी। मेरा बेटा मर चूका है और मेरे पास कफ़न के लीये भी पैसे नहीं है।


    शाहीद को उस पर बड़ा तरस आया। उसने बूढ़े को लड़के के कफ़न के लीये कुछ पैसे दिए और दूकान की तरफ रवाना हो गया। रास्ते में वो यही सोचता रहा की लूटेरे गरीब बनकर लोगो को लुटते है और हकदार लोगो के लिए नफरत पैदा करते है। क्यों उनको इनपर रहम नहीं आता। आखिर क्यों....?

Short Story On Save Trees

मुझे आपको Sad नहीं करना था लेकिन हमने सोचना चाहिए की लोगो की दिल कहा तक गिर चुके है किस प्रकार से लोगो का विश्वास तोड़ देते है और उनके मोम दिल को पत्थर का बना देते है.

उम्मीद है दोस्तों आपको Short Sad Story In Hindi पसंद आई होंगी इस Sad Story को अपने दोस्तों के साथ share करना ना भूले.

Popular Posts

Recent Posts

Follow by Email